Saturday, 12 November 2016

Marathi Literature Festival (11-13 नवम्बर) में वाणी प्रकाशन की शिरकत


Marathi Literature Festival (11-13 नवम्बर) में

  वाणी प्रकाशन की शिरकत


नासिक के कुसुमाग्रज स्मारक का तीन दिवसीय साहित्योत्सव किसी प्रचलित 'लिट्फेस्ट' जैसा न होकर ज्ञान और कला की कई दुनिया का एक समन्वय है। 'स्वतन्त्र विचार' की थीम वाले इस आयोजन में विख्यात लेखक, कवि और कलाकारों के अलावा फिल्मकार, कार्टूनिस्ट, नाट्यकर्मी, सम्पादक, पत्रकार, प्रकाशक और समाज-राजनीति से जुड़ी नामचीन हस्तियाँ भी शिरकत कर रही हैं। इस आयोजन में Dainik Bhaskar समूह के Divya Marathi के साथVani Prakashan मुख्य सहयोगी है।


एम.एल.एफ.में वाणी प्रकाशन से जुड़े लेखकों में शामिल हो रहे हैं


General V.K. Singh जिनकी आत्मकथा 'साहस और संकल्प' उनके सैन्य जीवन की रोमांचक दास्तान तो है ही, भारत के एक जागरूक नागरिक की ओर से पेश किया गया एक ईमानदार और प्रामाणिक दस्तावेज़ भी है। 'साहस और संकल्प' आप इस लिंक पर देखे सकते हैं :



Sharankumar Limbale जिन्होंने न केवल मराठी साहित्य का बल्कि समूचे भारतीय दलित साहित्य के वैचारिक और सृजनात्मक क्षितिज का विस्तार करते हुए एक प्रतिमान स्थापित किया है। 'अक्करमाशी' और 'दलित साहित्य का सौन्दर्यशास्त्र' जैसी पुस्तकें इसका प्रमाण हैं। लिम्बाले जी की पुस्तकों को इस लिंक पर देखें :http://www.vaniprakashan.in/lpage.php…


Laxmi Prasad Pant जिन्होंने 'हिमालय का कब्रिस्तान' लिखकर हिमालय को देखने के अब तक के नज़रिए को बदल कर रख दिया है। कुदरत के कहर का विश्लेषण करते हुए उन्होंने आस्था और विश्वास जैसे मूल्यों की भी गहरी छानबीन की है। इस पुस्तक के बारे में यहाँ से जानें :

वाणी प्रकाशन की ओर से एम.एल.एफ. की सफलता के लिए शुभकामनाएँ 
और सम्मानित लेखकों के बधाई !



***

में 

तस्वीरों के बहाने कुछ झलकियाँ !
General V.K. Singh से Laxmi Prasad Pant की बातचीत


श्रोताओं से अपने अनुभव साझा करते हुए General V.K. Singh

वाणी प्रकाशन से प्रकाशित Laxmi Prasad Pant की पुस्तक "हिमालय का क़ब्रिस्तान" 
का विमोचन करते हुए जनरल वी.के.सिंह, वाणी प्रकशन के प्रबंध निदेशक अरुण महेश्वरी और अन्य अतिथिगण।

बातचीत की मुद्रा में जनरल वी के सिंह

'मराठी लिटरेचर फेस्टिवल' की पूरी जानकारी 
आप इस लिंक पर जाकर ले सकते हैं
 http://marathiliteraturefestival.com/

______________________________________

#VaniPrakashan #वाणीप्रकाशन #MarathiLiteratureFestival
______________________________________