Wednesday, 31 December 2014

वर्ष 2014 की महत्त्वपूर्ण काव्य कृतियाँ / Remarkable Poetry Books of 2014

वाणी प्रकाशन से प्रकाशित 
श्री सुरेश सलिल द्वारा अनूदित व सम्पादित 
‘‎लोर्का‬ ‎की‬ ‪‎कविताएँ‬’ 
और श्री मदन कश्यप के कविता-संग्रह 
‘‪‎दूर‬ ‪‎तक‬ ‪‎चुप्पी‬’
को दैनिक जागरण के वार्षिक सर्वेक्षण में वर्ष 2014 की महत्त्वपूर्ण काव्य कृतियों में सम्मिलित किया गया है। 
खबर पाठकों के समक्ष प्रस्तुत है। 

दैनिक जागरण समाचार पत्र, 29 दिसम्बर 2014 के अंक से...


'दूर‬ ‪‎तक‬ ‪‎चुप्पी'‬ की समीक्षा / Review : Door Tak Chuppi

वाणी प्रकाशन से प्रकाशित श्री मदन कश्यप  के काव्य-संग्रह
‘‪‎दूर‬ ‪‎तक‬ ‪‎चुप्पी‬’ 
को जनसत्ता के वर्ष 2014 के वार्षिक सर्वेक्षण में शामिल किया गया है, रिपोर्ट पाठकों के समक्ष प्रस्तुत है। 

जनसत्ता समाचार पत्र, 28 दिसम्बर 2014 के अंक से... 


Monday, 22 December 2014

अदब 12 : ‘बस, इतनी सी थी ये कहानी...’ पुस्तक लोकार्पण / Adab 12 : Book Release - 'Bas, Itni Si Thi Ye Kahani...'



अदब 12 श्रृंखला के अन्तर्गत नाइन बुक्स द्वारा प्रकाशित भारत के चहेते किस्सागो नीलेश मिसरा द्वारा सम्पादित ‘बस, इतनी सी थी ये कहानी...’ पुस्तक का वाणी प्रकाशन, ऑक्सफोर्ड बुकस्टोरइंडिया टुडे ग्रुप डिजिटल  के सौजन्य से आयोजित लोकार्पण समारोह ऑक्सफोर्ड बुकस्टोर, एन-81 कनॉट प्लेस में 17 दिसम्बर 2014 दोपहर 2 बजे सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम में भारत के चहेते किस्सागो नीलेश मिसरा, दिल्ली के प्रसिद्ध रेडियो जॉकी रिचा अनिरुद्ध व इंडिया टुडे ग्रुप डिजिटल में एसोसिएट सम्पादक सौरभ द्विवेदी व वाणी प्रकाशन की निदेशक, कॉपीराइट व अनुवाद विभाग की अदिति माहेश्वरी का सान्निध्य रहा। कार्यक्रम में नीलेश मिसरा के मंडली के सदस्य आज़म क़ादरी व अकबर क़ादरी सहित मंडली के और भी शामिल रहे। कार्यक्रम में भारत के प्रथम ग्रामीण समाचार पत्र ‘गाँव कनेक्शन’ पर बातचीत हुई। कार्यक्रम के फोटोस आप सबके साथ शाया कर रहे हैं। 

बायें से दायें इंडिया टुडे ग्रुप डिजिटल में एसोसिएट सम्पादक सौरभ द्विवेदी, भारत के चहेते किस्सागो नीलेश मिसरा व दिल्ली के प्रसिद्ध रेडियो जॉकी रिचा अनिरुद्ध। 

बायें से दायें वाणी प्रकाशन की निदेशक, कॉपीराइट व अनुवाद विभाग की अदिति माहेश्वरी, इंडिया टुडे ग्रुप डिजिटल में एसोसिएट सम्पादक सौरभ द्विवेदी, भारत के चहेते किस्सागो नीलेश मिसरा व दिल्ली के प्रसिद्ध रेडियो जॉकी रिचा अनिरुद्ध। 


पाठक व प्रशंसक। 

 भारत के चहेते किस्सागो नीलेश मिसरा

पाठक व प्रशंसक। 

बायें से दायें इंडिया टुडे ग्रुप डिजिटल में एसोसिएट सम्पादक सौरभ द्विवेदी, भारत के चहेते किस्सागो नीलेश मिसरा व दिल्ली के प्रसिद्ध रेडियो जॉकी रिचा अनिरुद्ध। 

पाठक, प्रशंसक व मंडली के सदस्य। 


मंडली के सदस्य आज़म क़ादरी व अकबर क़ादरी। 

पाठक प्रश्न पूछते हुए। 

बायें से दायें भारत के चहेते किस्सागो नीलेश मिसरा व दिल्ली के प्रसिद्ध रेडियो जॉकी रिचा अनिरुद्ध। 

दिल्ली के प्रसिद्ध रेडियो जॉकी रिचा अनिरुद्ध।


बायें से दायें आज़म क़ादरी, नीलेश मिसरा व अकबर क़ादरी, पुस्तक का पाठ करते हुए। 

बायें से दायें आज़म क़ादरी, नीलेश मिसरा व अकबर क़ादरी, पुस्तक का पाठ करते हुए। 


पाठक व प्रशंसक। 

बायें से दायें आज़म क़ादरी, नीलेश मिसरा व अकबर क़ादरी, पुस्तक का पाठ करते हुए। 


दिल्ली के प्रसिद्ध रेडियो जॉकी रिचा अनिरुद्ध।


बायें से दायें  इंडिया टुडे ग्रुप डिजिटल में एसोसिएट सम्पादक सौरभ द्विवेदी, आज़म क़ादरी, भारत के चहेते किस्सागो नीलेश मिसरा, अकबर क़ादरी  व वाणी प्रकाशन की निदेशक, कॉपीराइट व अनुवाद विभाग की अदिति माहेश्वरी। 

भारत के चहेते किस्सागो नीलेश मिसरा के साथ आज़म क़ादरी, अकबर क़ादरी व मंडली के अन्य सदस्य। 

भारत के चहेते किस्सागो नीलेश मिसरा के साथ आज़म क़ादरी, अकबर क़ादरी व मंडली के अन्य सदस्य। 


नीलेश मिसरा अपने प्रशंसकों की पुस्तक प्रतियों पर ऑटोग्राफ देते हुए। 

नीलेश मिसरा अपने प्रशंसकों की पुस्तक प्रतियों पर ऑटोग्राफ देते हुए। 


नीलेश मिसरा अपने प्रशंसकों की पुस्तक प्रतियों पर ऑटोग्राफ देते हुए। 


नीलेश मिसरा अपने प्रशंसकों की पुस्तक प्रतियों पर ऑटोग्राफ देते हुए। 



नीलेश मिसरा अपने प्रशंसकों की पुस्तक प्रतियों पर ऑटोग्राफ देते हुए। 


नीलेश मिसरा अपने प्रशंसकों की पुस्तक प्रतियों पर ऑटोग्राफ देते हुए। 



नीलेश मिसरा अपने प्रशंसकों की पुस्तक प्रतियों पर ऑटोग्राफ देते हुए।