Friday, 6 December 2013

यह अफसोस की बात है

यह अफसोस की बात है कि भारतीय साहित्य के नाम पर दुनिया केवल भारत के अंग्रेजी साहित्य से परिचित है।