Tuesday, 5 March 2013

विधाओं का विन्यास




Book :  VIDHAON KA VINYAS
Author :  ANANT VIJAY
Publisher : Vani Prakashan
Total Pages : 184
ISBN : 978-93-5072-461-3(HB)
Price :  `375(HB)
Size (Inches) : 5.75x8.75
First Edition : 2013
Category  : Criticism


पुस्तक के सन्दर्भ में...
अनंत विजय के नाम से हिन्दी के सुधी पाठक अवश्य परिचित होंगे। पैतृक संस्कार के कारण पहले वे साहित्य की दुनिया में आये और फिर बाद में पत्रकारिता की ओर मुड़े लेकिन अब भी साहित्य उनसे छूटा नहीं है। आजकल वे एक बड़े प्रतिष्ठित चैनल IBN7 से जुड़े हैं। लेकिन एक अच्छी बात यह है कि अब भी वो साहित्यिक सवालों और विवादों में हस्तक्षेप करते हैं। हिन्दी की प्रतिष्ठित मासिक पत्रिका हंस और नया ज्ञानोदय में वो लिखते रहते हैं। यह यूँ ही नहीं है कि हंस के सम्पादक राजेन्द्र यादव अपने सम्पादकीय में अनंत विजय का उल्लेख देशी-विदेशी अंग्रेजी लेखकों की अद्यतन पुस्तकों को पढ़नेवाले के तौर पर याद करते हैं। अनंत विजय में आधुनिक हिन्दी साहित्य के विकास और इतिहास की अच्छी समझ है। बड़ी बात यह है कि हिन्दी पाठकों के सामने अंग्रेजी लेखकों के माध्यम से एक बड़ी दुनिया के यथार्थ से हमारा परिचय करा रहे हैं। साहित्यिक संस्कार के कारण वे बड़े से बड़े अंग्रेजी लेखकों से कभी आतंकित नहीं होते और उनकी भूल-गलतियों पर बेहिचक उँगुली रखते हैं। और सही जगह पर। उनके लेखन की यह विशेषता है कि वो जटिल और दुर्बोध अंग्रेजी लेखक की रचना को भी अपार धैर्य और साहस के साथ पढ़कर हिंदी पाठकों के लिए पठनीय ही नहीं बनाते हैं, बल्कि उसमें समीक्षित पुस्तक के प्रति उत्सुकता भी जगाते हैं। प्रस्तुत पुस्तक में संकलित अंग्रेजी पुस्तकों- विशेषतः आत्मकथा और जीवनी पर केन्द्रित पुस्तकों की समीक्षाएँ इस बात का प्रमाण हैं कि लेखन के प्रति उनकी अगाध निष्ठा है और जो कुछ अच्छा वो अनायास पढ़ते हैं, उसे पाठकों से शेयर करते हैं। उनके लेख से पाठकों के सामने एक नयी दुनिया खुलती है जो बेहद आह्लादक है। 

पुस्तक के अनुक्रम...
आत्मकथा/जीवनी
सितारों की जिन्दगी के बहाने 
संघर्ष कथा में सेक्स का तड़का 
इन्दिरा की राजनीतिक जीवनी 
सोनिया गाँधी: कुछ कही, कुछ अनकही
सोनिया-जीवनी पर बवाल
घटनाओं का कोलाज
महात्मा का इश्क
मित्र से उठता विवाद
राजनीति के टर्निंग प्वाइंट्स
लोग ही चुनेंगे रंग
राजनीति का स्याह चेहरा
मित्र की आँखों देखी
आधुनिक भारत के निर्माता
व्यक्तित्वों के रंग
अमेरिका का रंगीला राष्ट्रपति
राजनीतिक बदमाशियों की ‘जर्नी’
शून्य से शिखर का सफर
फिडेल का फरेब? 
आतंक के आका की जीवनी
जांबाज की जीवनी
व्यभिचार का विमर्श
सम्पादक की कथा
आत्मकथा से दरकती छवि
सम्पादक के पूर्वग्रह
फतवा के दर्द की दास्तां
उपन्यास/फिक्शन
फिफ्टी शेड्स ऑफ फैंटेसी
सब कुछ, मगर वो नहीं...
घटनाओं का बेस्वाद कॉकटेल
कुंठा और महत्वाकांक्षा का उत्स
रिश्ते की नयी इबारत
सपनों और आकांक्षाओं का टकराव
सफलता तलाशता विवाद 
लगभग सिंगल
विचार/इतिहास/नॉन फिक्शन
महान लेखक का बुढभस
धर्म, सेक्स और महिलाएँ
न्याय की मान्यताओं को चुनौती 
किताब से धुलेगा कलंक?
महाभारत के चरित्रों का पुनःपाठ 
परम्पराओं की पड़ताल
आन्दोलन को जानने के लिए जरूरी किताब 
महाजन का कर्जा
आतंक के अंत का थ्रिलर
किताब से बेनकाब पाकिस्तान
सन्दर्भ-ग्रन्थ 

अनंत विजय
अनंत विजय का जन्म 19, नवम्बर 1969 में हुआ। स्कूली शिक्षा जमालपुर (बिहार) में हुई। भागलपुर विश्वविद्यालय से बीए ऑनर्स (इतिहास), दिल्ली विश्वविद्यालय से पत्रकारिता में पोस्ट ग्रेजुएट सर्टिफिकेट, बिजनेस मैनेजमेंट में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा, पत्रकारिता में पोस्ट ग्रेजुएट।
प्रकाशित कृति: प्रसंगवश, कोलाहल कलह में, मेरे पात्र।
सम्पादन: समयमान।
स्तम्भ लेखन: नया ज्ञानोदय, पुस्तक वार्ता, चौथी दुनिया।