Friday, 7 September 2012

दस्तक



Book : Dastak 
Author : Yashoda Singh
Introduction : Uday Prakash
Price : `250(HB)
ISBN : 978-93-5072-295-4
Price : Rs.175(PB)
ISBN : 978-93-5072-301-2 ((PB)
Total Pages : 168
Size (Inches) : 5.50X8.50
Category  : Social Science

''यहाँ कहीं कोई सनसनी नहीं है, कोई 'सेंसेशनल' छौंक-बघार नहीं, कोई उस्तादाना 'स्पाइस' या हुनर नहीं। यहाँ बस एक सर्जनात्मक इत्मीनान है। "- उदय प्रकाश    

पुस्तक के सन्दर्भ में...
पाठकों को नयी-नयी पुस्तकों से और ऐसी पुस्तकें जो जीवन की वास्तविकताओं से परिचय कराती हैं । इसी को सार्थक रूप देना 'वाणी प्रकाशन' का उद्देश्य है । उसी श्रृंखला में प्रस्तुत है, यशोदा सिंह की पुस्तक 'दस्तक' जिसमें में कोई 'सनसनी' नहीं है, कोई 'सेंशेनल' या छौंक-बघार नहीं है । और न ही कोई उस्तादाना 'स्पाइस'  या हुनर । यहाँ सिर्फ एक सर्जनात्मक इत्मीनान है । इस पुस्तक में दिल्ली की किसी पुरानी बस्ती या उपनगर या हाशिये पर पड़ी मानवीय बसावट का वृत्तान्त है । जिसमें सिर्फ कई पात्र धीरे-धीरे, एक-एक कर आते हैं और फिर ओझल हो जाते हैं । जैसे कोई कैमरा है, जो कई छवियाँ कागज़ पर उतारता है । ये छवियाँ हमारी स्मृति में अपनी जगह तलाशती हमेशा वहीं रह जाती हैं । पुस्तक मामूली लोगों की गैर-मामूली सहभागिता और पारस्परिकता के ताने-बाने को परत-दर परत उजागर करती एक संवेदनशील मानवीय-गाथा है । आशा है पुस्तक पाठकों को पठनीय और रुचिकर लगेगी 

लेखिका  के सन्दर्भ में...
यशोदा  सिंह का जन्म दिल्ली में हुआ 2001 में वह युवा लेखकों की एक टोली में जुड़ीं। यहाँ उनके नये साथियों ने उनके लिखे पन्ने पढ़े और उनकी लेखनी को सराहा । उनके लिखे कुछ टुकड़े 'बहुरूपिया शहर' और 'फर्स्ट सिटी' पत्रिका के अलग-अलग अंकों में प्रकाशित हुए। उन्होंने 2004 में हेम्बुर्ग, जर्मनी में हुए इंटरनेशनल यंग परफोर्मेंस फेस्टिवल प्लेमास 2004 -में हिस्सा लिया 'दस्तक'  उनकी पहली पुस्तक है