Saturday, 7 April 2012

विज्ञापन डॉट कॉम


Book : VIJNAPAN DOT COM
Author : Dr. Rekha Sethi
Publisher : Vani Prakashan
Price :
` 495(HB)
ISBN : 978-93-5000-895-9
Total Pages :  310
Size (Inches) :   5.75X8.75
Category  : 
Media


पुस्तक के संदर्भ में ......


मीडिया और मनोरंजन जगत में अपना वर्चस्व क्षेत्र स्थापित करने वाले विज्ञापन की सत्ता उसके विविधमुखी उद्देश्यों पर टिकी है/ उसका इतिहास न केवल इन सन्दर्भों को उजागर करता है, बल्कि उसके बढ़ते प्रसार क्षेत्र को समझने की अंतर्दृष्टि भी देता है/ पुस्तक में उसके सैद्धांतिक पक्ष का विवरण देते हुए उसकी बदलती अवधारणाओं इतिहास और वर्गीकरण का लेखा-जोखा प्रस्तुत किया गया है/ लेखिका कहती हैं, विज्ञापन निर्माण एक जटिल प्रक्रिया है/ मीडिया अध्ययन की कक्षाओं में हम साधारणत: विद्यार्थियों को विज्ञापन बनाने का काम सौंप देते हैं / विषय और भाषा में दक्षता रखने वाले विद्यार्थी भी ऐसे समय पर चूक जाते हैं/ इस बात को ध्यान में रखते हुए ही पुस्तक में विज्ञापन निर्माण प्रक्रिया को अत्यंत विस्तारपूर्वक समझाया गया है /

पुस्तक की विषय सूची
विज्ञापन : स्वरूप एवं अवधारणा
विज्ञापन : विकास यात्रा
विज्ञापन : वर्गीकरण
विज्ञापन : उद्देश्य, कार्य एवं महत्त्व
विज्ञापन निर्माण : विज्ञापन एजेंसी ,गवेषणा, रचनात्मक परिकल्पना, विज्ञापन सन्देश अपील, कॉपी लेखन /
विज्ञापन माध्यम : प्रिंट माध्यम,रेडियो माध्यम, टेलिविज़न माध्यम /
विज्ञापन भाषा : विज्ञापन की भाषा बनाम साहित्यिक भाषा,विज्ञापन भाषा के गुण, विज्ञापन भाषा के उपकरण /
पॉपुलर कल्चर और विज्ञापन : विज्ञापन और स्त्री, विज्ञापन और बच्चे /
विज्ञापन जगत की प्रमुख हस्तियाँ : पीयूष पांडे, अनुजा चौहान, प्रहलाद कक्कड़, मधुकर कामथ, एग्नेलो डायस,...
प्रमुख विज्ञापन एजेंसियां, चुनिन्दा विज्ञापन /

लेखिका के सन्दर्भ में .....
स्वातंत्र्योत्तर हिन्दी कविता कहानी डॉ. रेखा सेठी के विशेष अध्ययन क्षेत्र रहे हैं/ मीडिया के विविध रूपों में उनकी सक्रिय भागीदारी और दिलचस्पी रही है/ पाँच वर्ष तक उन्होंने मीडिया सम्बन्धित पाठ्यक्रम पढ़ाये हैं / विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में उनके आलोचनात्मक लेख व समीक्षाएं प्रकाशित होते रहे हैं / वर्तमान में वह इन्द्रप्रस्थ कॉलेज के हिन्दी विभाग में एसोसिएट प्रोफेसर के पद पर कार्यरत हैं /