Tuesday, 12 July 2011

eqvutksnM+ks


ओम थानवी



ys[kd% vkse Fkkuoh
izFke laLdj.k% 2011
ISBN : 978-93-5000-723-5
ewY; % 200#-


मुअनजोदड़ो - भारतीय इतिहास की धरोहर है. सुप्रसिद्ध पत्रकार और लेखक ओम थानवी इस धरोहर-स्थल की कई बार यात्रा कर चुके हैं. पिछले दिनों  उनका यात्रा-वृत्तान्त 'मुअनजोदड़ो' जब प्रकाशित हुआ तो पाठकों ने इसे हाथोंहाथ लिया और समीक्षकों ने भी. समीक्षकों के मुताबिक़ 'मुअनजोदड़ो' को पढ़ते हुए इतिहास, पुरातत्व, भूगोल, साहित्य - यहाँ तक कि संगीत के गलियारों से गुजरने तथा मानव सभ्यता की बुनियादी गुत्थियों को सुलझाने के सूत्रों से परिचय होता है. तसल्ली की बात है कि इन गुत्थियों में न यह कृति उलझती हैं न पाठको को उलझने देती है. इसमें तर्क है, खोज है, विश्लेषण है तथा विशेषज्ञों और विद्वानों के वैज्ञानिक निष्कर्षों के प्रमाण भी हैं. पिछले दिनों हिन्दी की कई साहित्यिक पत्रिकाओं और समाचार-पत्रों में 'मुअनजोदड़ो' की समीक्षाएं प्रकाशित हुई हैं. उनमें से कुछ हम आपसे साझा कर रहे हैं.
 शुक्रिया!
-- 



15 अगस्त 2011 से पहले पुस्ताकादेश  


 देने पर पायें 2o% छूट!